Home देश ‘दंगल गर्ल’ जायरा वसीम बोलीं ‘ये ज़रूरी नहीं कि बुर्क़ा पहनने...

‘दंगल गर्ल’ जायरा वसीम बोलीं ‘ये ज़रूरी नहीं कि बुर्क़ा पहनने वाली हर महिला दबाव में हो’

SHARE

नई दिल्ली – आमिर खान की फिल्म दंगल जिसने बॉलीवुड में नया कीर्तिमान स्थापित किया है उस फिल्म में अदाकारी करकरे सुर्खियो में आईं कश्मीर की बॉलीवुड अभिनेत्री जायरा वसीम ने इस बार मुस्लिम महिलाओं द्वारा पहने जाने वाले बुर्के पर टिप्पणी की है। 17 वर्षीय इस कश्मीरी अभिनेत्री ज़ायरा वसीम खान ने कहा कि यह जरूरी नहीं कि बुर्का पहनने वाली हर महिला दबाव में हो।

जायरा वसीम आमिर खान की ‘दंगल’ के बाद अब महिला सशक्तिकरण पर आधारित आमिर खान की ही फिल्म सीक्रेट सुपर स्टार’ में एक अहम भूमिका में नजर आएंगी। इस फिल्म में ज़ायरा एक ऐसी लड़की की भूमिका निभायेंगी जो बुर्का पहनती है और वह इंटरनेट के माध्यम से रातोंरात प्रसिद्ध गायिका बन जाती है।

जायरा ने बीबीसी को दिये इंटरव्यू में बुर्के और उससे जुड़े मुद्दों पर अपनी राय देते हुए कहा कि ‘जो औरतें बुर्का पहनती हैं, उन पर लोगों ने आरोप लगा दिया है कि वह दबाव में हैं।’ उन्होंने कहा कि मैं एसी महिलाओं को भी जानती हूं जो हिजाब पहनना चाहती हैं और उन्हें ऐसा करने की अनुमति नहीं है।

इस नौजवान अभिनेत्री ने बताया कि कश्मीर में इतनी सारी लड़कियां हैं जो बुर्का पहनती हैं और उनकी शादियां नहीं हो रही हैं। जबकि उनके माता-पिता उन पर दबाव डाल रहे हैं, लेकिन वे  बुर्का उतार नहीं रही हैं। जायरा ने आरोप को खारिज कर दिया कि बुर्क़ा और दबाव रूढ़िवादी ख्यालात हैं। उन्होंने कहा कि ज़रुरी नहीं कि हिजाब पहनने वाली लड़कियां सिर्फ परिवार के दबाव में ही हिजाब पहनती हैं।

गौरतलब है कि अक्सर छद्म महिलावादियों की तरफ से आरोप लगाया जाता रहता है कि बुर्का पिछड़ेपन की निशानी है। अपने कतुर्क को सही करने के लिये उन देशों का हवाला दिया जाता है जहां पर महिलाऐं ना के बराबर ही बुर्का पहनती हैं। दूसरी तरफ से भी इस पर वार किया जाता है और कहा जाता है कि बुर्के की बात तो होत है मगर घूंघट की बात कोई नहीं करता।