Breaking News
Home / विदेश / किम जोंग की धमकियों के सामने झुके ट्रंप, अब युद्ध नहीं बात चीत से चाहते हैं समस्या का समाधान

किम जोंग की धमकियों के सामने झुके ट्रंप, अब युद्ध नहीं बात चीत से चाहते हैं समस्या का समाधान

नई दिल्ली – अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप बीते 6 जनवरी  को मेरीलैंड के थर्मान्ट क़स्बे में स्थित मशहूर कैंप डेविड सैरगाह में अपने मंत्रीमंडल के सदस्यों और रिपब्लिकन सांसदों के साथ बात करते हुए अमरीकी राष्ट्रपति ने कहा है कि वे उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के साथ टेलीफ़ोन पर बातचीत में रूचि रखते हैं। ट्रंप ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि उत्तर कोरिया-दक्षिण कोरिया के बीच बातचीत का सार्थक नतीजा निकलेगा।

ट्रम्प ने मेरीलैंड राज्य के थर्मान्ट क़स्बे में स्थित कैंप डेविड सैरगाह में शनिवार को पत्रकारों की मौजूदगी में कहा, “मैं किम जोंग उन के साथ बातचीत में रूचि रखता हूं लेकिन यह बातचीत बगैर किसी शर्त नहीं होगी।” ग़ौरतलब है कि उत्तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया के साथ आधिकारिक बातचीत पर सहमती जाहिर की है जो दोनों कोरियाई देशों के बीच साल से ज़्यादा अरसे में पहली बार बातचीत होगी।

उत्तर कोरिया द्वारा दक्षिण कोरिया के साथ बातचीत पर सहमती, दक्षिण कोरिया-अमरीका के बीच संयुक्त सैन्य अभ्यास को विलंबित करने के फ़ैसले के कुछ घंटे बाद सामने आई। डोनाल्ड ट्रंप के सत्ता में आने के समय से उनके और किम जोंग उन के बीच लगातार शाब्दिक नोंक झोंक होती रही है।

अमरीका और उसके घटकों का कोरिया प्रायद्वीप में तनाव बढ़ाने में बहुत खराब भूमिका रही है। अमरीका और उसके घटक उत्तर कोरिया से परमाणु परीक्षण रोकने की मांग करते हैं, लेकिन प्यूंग यांग का कहना है, कि जब तक अमरीका और उसके घटकों की तरफ से उत्तर कोरिया के ख़िलाफ़ ख़तरा बना रहता है, यह देश अपनी सैन्य व पूर्व आक्रमण की क्षमता बढ़ाता रहेगा।

Check Also

फिलिस्तीनः देखें वीडियो और महसूस करें फिलस्तीनी कवियत्री रफीक जियादह के इस दर्द को!

Share this on WhatsAppअपने विश्वविद्यालय में, फिलिस्तीन पर इस्राइली हमलो के विरोध में एक प्रदर्शन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *