Home देश योगी राज में हैवानियतः दो दलित युवकों को लटकाकर बेरहमी से पीटा,...

योगी राज में हैवानियतः दो दलित युवकों को लटकाकर बेरहमी से पीटा, एक का काटा अंगूठा – देखें वीडियो

SHARE

गढ़मुक्तेश्वर (हापुड़) – सिंभावली थाना क्षेत्र के गांव में तीन युवकों ने दो युवकों पर चोरी का आरोप लगाते हुए उन्हें बंधक बना लिया। आरोपितों ने दोनों युवकों को हाथ बांधकर लटका दिया और बेरहमी से पीटा। दबंगों ने पीड़ित युवकों के मुंह में कपड़ा ठूंस दिया और दिव्यांग युवक के बायें हाथ का अंगूठा भी काट लिया। एक आरोपित ने इस दरिंदगी का वीडियो भी बना लिया।

दलित जाति से ताल्लुक रखने वाले पीड़ित दिव्यांग युवक ने तीनों युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने एक आरोपित को हिरासत में ले लिया है। देवली गांव निवासी एक युवती का घर से कुछ दिन पहले पर्स चोरी हो गया था। इसी शक में उसके रिश्ते के भाई व थाना क्षेत्र के गांव ढाना निवासी कपिल ने इस घटना को अंजाम दिया।

कपिल सवर्ण जाति से ताल्लुक रखता है, जबकि अन्य दो आरोपित दलित हैं। आरोप है कि कपिल ने शनिवार दोपहर गांव देवली निवासी दिव्यांग अनिल और उसके पड़ोसी रोहित को बंधक बना लिया। आरोपित कपिल ने अपने साथी भरत एवं नूतन के साथ मिलकर दोनों के हाथ रस्सी से बांध कर छत से लटका दिया और पिटाई कर दी। चीख निकलने पर उनके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया गया।

आरोपितों ने अनिल द्वारा शोर मचाने पर उसके बायें हाथ का अंगूठा भी काट दिया। देर शाम तक जब वह घर नहीं पहुंचा तो परिजन पुलिस को सूचना देते हुए ढाना गांव पहुंचे। ग्रामीणों के सहयोग से उन्होंने कपिल के मकान का दरवाजा खुलवाया तो अनिल एवं रोहित वहां बंधक मिले। जबकि, तीनों आरोपित मौके से फरार हो गए। घायल अनिल को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

आरोपित नूतन का भाई है बंधक बना रोहित

अनिल को प्रताड़ित किए जाने के बाद उसके भाई गौरव ने थाने में कपिल, नूतन और भरत के खिलाफ नामजद तहरीर दी है। अनिल का साथी रोहित आरोपित नूतन का सगा भाई बताया जा रहा है। पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया है। पीड़ित अनिल का आरोप है कि नूतन ने केवल दिखावे के लिए अपने भाई रोहित को बंधक बनाया था।

अंगूठा काटा

आरोपितों ने दोनों युवकों को हाथ बांधकर लटका दिया और बेरहमी से पीटा। दबंगों ने पीड़ित युवकों के मुंह में कपड़ा ठूंस दिया और दिव्यांग युवक के बायें हाथ का अंगूठा भी काट लिया। एक आरोपित ने इस दरिंदगी का वीडियो भी बना लिया। दलित जाति से ताल्लुक रखने वाले पीड़ित दिव्यांग युवक ने तीनों युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने एक आरोपित को हिरासत में ले लिया है।


देवली गांव निवासी एक युवती का घर से कुछ दिन पहले पर्स चोरी हो गया था। इसी शक में उसके रिश्ते के भाई व थाना क्षेत्र के गांव ढाना निवासी कपिल ने इस घटना को अंजाम दिया। कपिल सवर्ण जाति से ताल्लुक रखता है, जबकि अन्य दो आरोपित दलित हैं। आरोप है कि कपिल ने शनिवार दोपहर गांव देवली निवासी दिव्यांग अनिल और उसके पड़ोसी रोहित को बंधक बना लिया। आरोपित कपिल ने अपने साथी भरत एवं नूतन के साथ मिलकर दोनों के हाथ रस्सी से बांध कर छत से लटका दिया और पिटाई कर दी। चीख निकलने पर उनके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया गया।

आरोपितों ने अनिल द्वारा शोर मचाने पर उसके बायें हाथ का अंगूठा भी काट दिया। देर शाम तक जब वह घर नहीं पहुंचा तो परिजन पुलिस को सूचना देते हुए ढाना गांव पहुंचे। ग्रामीणों के सहयोग से उन्होंने कपिल के मकान का दरवाजा खुलवाया तो अनिल एवं रोहित वहां बंधक मिले। जबकि, तीनों आरोपित मौके से फरार हो गए। घायल अनिल को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

घटना की तहरीर पर तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर एक को हिरासत में ले लिया गया है। पुलिस क्षेत्रधिकारी संतोष कुमार मिश्र ने कहा है कि किसी भी कीमत पर आरोपियों को बख्शा नहीं जाएगा। आरोप है कि उसके साथ बंधक बनाया गया युवक रोहित आरोपित नूतन का सगा भाई है। आरोपितों का उद्देश्य केवल उसे ही प्रताड़ित करना था। उन्होंने दिखावे के लिए रोहित को भी बंधक बनाकर थोड़ी पिटाई की थी।

आरोप है कि उनकी पिटाई का वीडियो नूतन ने ही बनाया था। अनिल ने बताया कि आरोपितों ने एक घर में उसे और रोहित को बंधक बनाया था। कुछ देर तक उसे कुछ समझ नहीं आया, लेकिन थोड़ी देर में ही आरोपितों ने उसे पीटना शुरू कर दिया। अनिल के अनुसार, कार से अपहरण करने के दौरान आरोपितों ने उसके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया। 1पुलिस क्षेत्रधिकारी संतोष कुमार मिश्र का कहना है कि घटना के वीडियो के संबंध में कोई जानकारी नहीं है। वीडियो सामने आने पर उसकी जांचकर कार्रवाई की जाएगी।