Breaking News
Home / देश / कानपुरः इस्लामी झंडे को पाकिस्तानी झंडा बताकर फैलाई अफवाह, पुलिस ने शान्ति भंग के केस में भेजा जेल

कानपुरः इस्लामी झंडे को पाकिस्तानी झंडा बताकर फैलाई अफवाह, पुलिस ने शान्ति भंग के केस में भेजा जेल

कानपुर – कुछ लोग खुद को ज्यादा देशभक्त दिखाने के चक्कर में इस कदर उतावले हो जाते हैं कि उन्हें हर एक हरा रंग पाकिस्तानी झंडा नजर आने लगता है। ऐसा ही एक मामला कानपुर में पेश आया है जहां एक युवक ने एक मुस्लिम परिवार की छत पर लहरा रहे इस्लामी ध्वज को पाकिस्तान का ध्वज बताकर अफवाह फैला दी। जिस शख्स ने इस इस्लामी झंडे के बारे में अफवाह फैलाई इसका नाम गौरव है।

कानपुर के नयापुरवा निवासी गौरव वर्मा ने एक मकान पर हरा झंडा लहराते हुए देख पुलिस को फोन कर दिया कि इलाके में पाकिस्तानी झंडा छत पर फहराया हुआ है। जिसके बाद मौके पर पुलिस ने देखा तो वह झंडा पाकिस्तान का नहीं बल्कि इस्लामिक झंडा था जिस पर तीन सितारे भी बने हुए थे।

गौरव ने पुलिस को सूचना देते हुए कहा था कि भारी संख्या में पुलिस बल भेजा जाये इलाके में पाकिस्तानी झंडा मकान के ऊपर लगा है। पाकिस्तानी झंडे की खबर सुनकर प्रशासन सकते में आ गये, आनन फानन में बाबूपुरवा थाने के एसओ मय फोर्स मौके पर पहुंच गये। जिसके बाद गौरव उन्हें लेकर उस बिल्डिंग के पास गया जिस पर झंडा लहरा रहा था। लेकिन गौरव की बात में सच्चाई नहीं निकली और वह झंडा पाकिस्तान के बजाये इस्लामिक झंडा निकला।

पुलिस अधिकारी योगेश वर्मा ने बताया कि झूठी सूचना देने पर पुलिस ने गौरव वर्मा को गिरफ्तार करके शांतिभंग की धारा में जेल भेज दिया। बता दें कि अक्सर लोग अपनी देशभक्ती साबित करने के लालच में हर एक हरे रंग को पाकिस्तान का रंग बताकर प्रचारित करते रहते हैं। और कभी कभी इसी के चलते वे अपमानित भी हो जाते हैं।

Check Also

मध्यप्रदेशः निकाय चुनाव में बीजेपी का सूपड़ा साफ, राघोगढ़ नगर पालिका चुनाव में कांग्रेस ने जीती 24 में से 20 सीटें

Share this on WhatsAppभोपाल – देश के कुछ राज्यों को भाजपा का गढ़ कहा जाने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *