Home मुख्य खबरें सीरिया त्रासदीः शरणार्थियों की निस्वार्थ सेवा करने के लिये एर्दोगान को दिया...

सीरिया त्रासदीः शरणार्थियों की निस्वार्थ सेवा करने के लिये एर्दोगान को दिया जायेगा शांति पुरुस्कार

SHARE

नई दिल्ली – अंतर्राष्ट्रीय बाल चिकित्सा संघ ने बीते सोमवार को तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैय्यब एर्दोगान को शान्ति पुरूस्कार से सम्मानित करने का ऐलान किया है, आईपीए के अधिकारियों ने तुर्की में शरणार्थी शिविरों का दौरा करने के बाद एर्दोगान के लिए इस पुरूस्कार की घोषणा की है। एसोसिएशन के बाहरी संबंध विभाग के प्रमुख केमर हसनोग्लू ने कहा कि आईपीए मैनेजमेंट ने शरणार्थी बच्चों के जीवन में उनके योगदान के लिए एर्दोगान को पुरस्कार देने का फैसला किया है।

उन्होंने शरणार्थियों की सहायता कर रहे तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैय्यब एर्दोगान के बारे में बताया कि “क्योंकि तुर्की ने 1.5 मिलियन से अधिक बच्चों को मदद की पेशकश की है और उनकी मदद के लिए ऐसे वक्त में हाथ बढ़ाया है जबकि वे मौत के मुंह में थे और अनेक देश उदासीन बने हुए थे।

हसनोग्लू ने कहा, एर्दोगान की अगुवाई में तुर्की ने इन देशों की बच्चों की मदद ऐसे वक्त में की. जब कई देश इस स्थिति को नजरअंदाज करने में लगे हुए थे,अंडोलु एजेंसी (एए) के अनुसार, तुर्की में इस वक्त सीरियन शरणार्थियों की संख्या 3,506,532 तक पहुंच गई हैं,तुर्की ने अब तक इस विस्थापित आबादी के कल्याण पर 30.2 अरब डॉलर से अधिक खर्च किया है,तुर्की अब तक 612,603 सीरिया के बच्चों को शिक्षा प्रदान कर चूका है।

तुर्की ने शरणार्थियों की शिक्षा पर 15.4 अरब डॉलर का निवेश किया है, जबकि स्वास्थ्य सेवाओं के लिए 16.3 अरब डॉलर का निवेश किया है,। बता दें कि सीरिया में चल रहे गृह युद्ध से त्रस्त होकर सीरियाई नागरिक सीरिया छोड़कर दूसरे देशो में जाकर शरणार्थी हो गये हैं, इनमें से सबसे ज्यादा सीरियाई शरणार्थी तुर्की में रह रहे हैं जिनकी संख्या पचास लाख से भी अधिक है। बता दें कि तुर्की ने सीरिया समते रोहिंग्या मुस्लिमों के शरणार्थी शिविरों में भी भारी तादाद में आर्थिक सहायता और खाने पीने की वस्तुएँ भिजवाई हैं।