Home खेल रिक्शा चालक के बेटे निसार ने रचा इतिहास ‘देश के लिये जीता...

रिक्शा चालक के बेटे निसार ने रचा इतिहास ‘देश के लिये जीता गोल्ड मैडल’

SHARE

नई दिल्ली– दिल्ली के झुग्गी में रहने वाले लड़के ने खेलो में ऐसी कामयाबी पायी है जोकि युवाओ के लिए मिसाल है. आजादपुर रेलवे स्टेशन के पास स्लम में रहने वाले निसार ने दिल्ली स्टेट एथलेटिक्स प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल जीता है.

निसार ने 100 और 200 मीटर स्प्रिंट प्रतियोगिता में ये मेडल अपने नाम किए. गोल्ड मेडल जीतने के साथ ही निसार ने अंडर 16 ऑल इंडिया के रिकॉर्ड को भी तोड़ा है। निसार काफी गरीब घर से आते हैं लेकिन उन्होंने इसे कभी अपने सपनों के बीच नहीं आने दिया।

निसार के पिता नन्कू अहमद घर खर्चे के लिए रिक्शा चलाते हैं और मां पिता की मदद के लिए दूसरों के घरों में काम करती हैं. निसार के दो बहनें भी हैं जिनमें से एक की शादी हो चुकी है.

चार लोगों का ये परिवार कितने सालों से एक कमरे में अपना गुजारा कर रहा है. निसार के पिता नन्कू पैरों में परेशानी के बावजूद सालों से रिक्शा चला रहे हैं.

नन्कू अहमद महीने में 5-7 हजार रुपये की कमाई कर लेते हैं और इस कमाई का अधिकतर हिस्सा वो अपने बेटे की जरूरतों पर खर्च करते हैं. अहमद चाहते हैं कि वो अपने बेटे की सभी जरूरतों को पूरा करें लेकिन आर्थिक परेशानी के चलते ऐसा नहीं हो पाता.

निसार को किसी चीज की कमी न हो इसके लिए उनका परिवार दिन-रात मेहनत करता है. बेटे को रात को सूकून की नींद मिल सके इसके लिए माता-पिता ने एक सेकेंड हैंड कूलर भी खरीदा है.

निसार की मां का कहना है कि पैसों की कमी और बिजली के बढ़ते दामों के कारण वो बड़ा कूलर नहीं खरीद पाए.सुनीता राय निसार की कोच हैं.वो तीन साल पहले निसार से मिलीं थीं और तभी से उसे फ्री में कोचिंग दे रही हैं.

ऑल इंडिया स्कूल लेवल को क्वालीफाई करने के लिए उन्हें अंडर 14 इंटर जोन खेलने पड़े जिसमें निसार ने तीन गोल्ड मेडल जीतने के साथ रिकॉर्ड भी बनाया. निसार ने केरल में हुई ऑल इंडिया स्कूल प्रतियोगिता में भी शानदार प्रदर्शन किया.

पहले दिन 400 मीटर में कांस्य जीतने के बाद निसार ने दूसरे ही दिन गोल्ड मेडल जीता. तीसरे और चौथे दिन भी निसार का पदक जीतने का सिलसिला जारी रहा। बड़ी कंपनी गेल इंडिया निसार की स्पॉन्सर बन गई है. इसके बाद से निसार गेल इंडिया स्प्रिंट स्टार के नाम से मशहूर हो गए हैं.