Home देश औवेसी ने गोडसे को बताया था नंबर वन का आतंकवादी, अब हिन्दू...

औवेसी ने गोडसे को बताया था नंबर वन का आतंकवादी, अब हिन्दू महासभा से मिली जान से मारने की धमकी

SHARE

नई दिल्ली: AIMIM के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे को भारत का आतंकवादी नम्बर वन बताया था जिसके बाद हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पंडित अशोक कुमार शर्मा ने पलटवार करते हुए कहा है कि असदउद्दीन ओवैसी ने पंडित नाथूराम गोडसे को आतंकवादी कहकर उनका अपमान किया है। अगर उन्होंने दोबारा इस तरह का बयान दिया तो उन्हें भी गांधी जी के पास पहुंचा दिया जाएगा।

हैदराबाद से लोकसभा सांसद असदउद्दीन ओवैसी ने नाथूराम गोडसे पर की गई टिप्पणी पर हिन्दू महासभा के पदाधिकारियों में नाराजगी है। मंगलवार को हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पंडित अशोक कुमार शर्मा और जिलाध्यक्ष अभिषेक अग्रवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि असदुददीन ओवैसी ने पंडित नाथूराम गोडसे को आतंकवादी कहकर उनका अपमान किया है।

हिन्दू महासभा के नेता ने कहा कि नाथूराम के खिलाफ असदुद्दीन ने अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया है, जो बेवकूफी से भरा बयान है। पदाधिकारियों कहा कि अगर असदुददीन ओवैसी ने फिर से ऐसा बयान दिया तो उनको भी गांधी जी के पास भेज दिया जाएगा। वे खुद तय कर ले अल्लाह के पास जाना है या राम के पास।

औवेसी को बताया मूर्ख

प्रेस कांफ्रेंस में अशोक शर्मा ने कहा कि हम उस गैर समुदाय के मूर्ख व्यक्ति के बयान की घोर निंदा करते हैं। असदुददीन ओवैसी जानबूझकर घटिया सुर्खियां बटोरने के लिए ऐसी बयानबाजी कर रहे हैं। क्योंकि जब सन 1947 में हमारे देश का विभागजन सिर्फ और सिर्फ गांधी, नेहरू और जिन्ना के कहने पर किया जा रहा था तो उस समय ओवैसी जैसों के पूर्वजों की इच्छा यह थी कि हमें इतना छोटा सा देश नहीं चाहिए। हमें तो और बड़ा हिस्सा मिलनी चाहिए पर गोडसे ने इन देश द्रोहियों के सपने पूरे नहीं होने दिए।

उन्होंने कहा कि आज क हमारा देश पूर्ण रूप से इस्लामिक देशद्रोहियों का देश नहीं हो पाया। पत्रकार वार्ता के दौरान पदाधिकारियों ने कहा कि वे ओवैसी को बताना चाहते हैं कि हम उसकी तरह गांधी का चरखा नहीं चलाते हैं। हम गंदी और अभद्र भाषा का इस्तेमाल भी नहीं करते हैं। हम गाली का जवाब बंदूक की गोली से देना जानते हैं। यदि ओवैसी ने फिर से शहीद गोडसे के बारे में आतंकवादी जैसा शब्द प्रयोग किया तो उनको अल्लाह या राम के पास भेज दिया जाएगा।