Home कारोबार GST से सरकार की कमाई को करारा झटका, राजस्व में हर महीने...

GST से सरकार की कमाई को करारा झटका, राजस्व में हर महीने 10-20 हजार करोड़ का नुकसान

SHARE

जिस जीएसटी को मोदी सरकार अर्थव्यवस्था का रामबाण बता रही थी वह अब उल्टा असर करने लगा है। सरकार ने जीएसटी प्रणाली लागू होने के बाद पहले महीने 80-90 हजार करोड़ रुपये राजस्व आने की उम्मीद व्यक्त की है। यह अनुमान से काफी कम है। आखिर यह हालत क्यों आई?

इसकी एक वजह जुलाई से अब तक जीएसटी की पेचीदगियों और अनिश्चतता की वजह से कारोबार का  बुरी तरह प्रभावित होना है। जुलाई और अगस्त महीने में देश में कारोबार औसत से काफी कम रहा। जीएसटी के मद में सरकार को हर साल कम से कम एक लाख करोड़ रुपये टैक्स आने की उम्मीद है। लेकिन 20 अगस्त तक सरकार के पास 42 हजार करोड़ रुपये ही आए थे।

कारोबारियों के मुताबिक शुरुआती महीनों में उन्हें जीएसटी की वजह से काफी पेचीदगियों और दिक्कतों का सामना करना पड़ा इसलिए व्यापार की गतिविधियों पर असर पड़ना लाजिमी था। उन्हें इस बारे में ज्यादा जानकारी नहीं थी। कई चीजों पर अस्पष्टता का अभाव था, जिसका असर उनकी बिक्री पर पड़ा। जुलाई में कंपनियों ने अपने पुराने स्टॉक निकाले। मैन्यूफैक्चरिंग की स्थिति खराब रही। बाजार में नया उत्पादन नहीं आया और न ही कारोबारियों ने ज्यादा माल उठाया। इससे उत्पादन से लेकर वितरण और बिक्री तक पूरी चेन प्रभावित हुई। इस वजह से राजस्व वसूली में कमी आनी ही थी।

सरकार लगातार कह रही है कि अक्टूबर तक हालात संभल जाएंगे। लेकिन आधार का असर लंबे समय तक अर्थव्यवस्था को झकझोरता रहेगा। बड़ी रेटिंग एजेंसियों ने खुद अर्थव्यवस्था में विकास दर की रफ्तार धीमी रहने की आशंका जताई है। जिन देशों में जीएसटी लागू किया गया, वहां लंबे वक्त तक अर्थव्यवस्था इसके नकारात्मक असर को झेलती रही है। भारत में भी यह स्थिति दिखे तो आश्चर्य नहीं होना चाहिए।

सौ. सबरंग इंडिया