Home देश गौरी लंकेश हत्याकांडः बोला बॉलीवुड-आखिर हम किस तरह का समाज बना रहे...

गौरी लंकेश हत्याकांडः बोला बॉलीवुड-आखिर हम किस तरह का समाज बना रहे हैं ?

SHARE

नई दिल्ली चर्चित महिला पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के बाद हर कोई हैरान हैं। मंगलवार की रात तकरीबन साढे आठ बजे चार अज्ञात हमलावरों ने उनपर उस समया गोलियां बरसा दीं जब वह अपने घर में प्रवेश कर रही थीं। वैचारिक मतभेदों को लेकर वह कुछ लोगों के निशाने पर थीं। वह कन्नड़ भाषा में एक साप्ताहिक पत्रिका निकालती थीं और उन्हें निर्भीक और बेबाक पत्रकार माना जाता था।

गौरी लंकेश कर्नाटक की सिविल सोसायटी की चर्चित चेहरा थीं। गौरी कन्नड़ पत्रकारिता में एक नए मानदंड स्थापित करने वाले पी. लंकेश की बड़ी बेटी थीं। वह वामपंथी विचारधारा से प्रभावित थीं और हिंदुत्ववादी राजनीति की मुखर आलोचक थीं।

बेंगलुरु के पुलिस आयुक्त टी सुनील कुमार ने बताया कि हमलावरों ने लंकेश पर सात गोलियां दागीं जिसमें तीन गोलियां उनकी छाती और गले पर लगीं। मुख्यमंत्री सिद्दारमैया ने कहा कि गौरी लंकेश की हत्या की जांच के लिए पुलिस की तीन टीमें गठित की गई हैं। अपराधियों को पकड़ा जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा, मैंने पुलिस आयुक्त और पुलिस महानिदेशक से बात की है।”

वहीं बॉलीवुड की ओर से भी इस घटना पर प्रतिक्रियाए आनी शुरु हो गई हैं। किसने क्या कहा, नीचे पढ़ें-

फरहान अख्तर- शर्मिंदा .. हम किस तरह का समाज बन रहे हैं ?? परिवार को गहरी संवेदना और उम्मीद है कि जल्द ही न्याय पहुंचाया जाएगा।

महेश भट्ट- जब बहस खो जाती है, तो हत्या असंतुष्ट विचारों को गला घोंटने के लिए उपकरण बन जाती है।

जावेद अख्तर- दाभोलकर, पानसारे, कलबर्गि, और अब गौरी लंकेश। यदि एक ही तरह का लोग मारे जा रहे हैं तो किस प्रकार के लोग हत्यारे हैं?

शबाना आजमी- गौरी लंकेश की अपने घर के बाहर हत्या हैरान करने वाली है। दाभोलकर, पानसारे, कुलबर्गी के हत्यारों को दंडित किया जाना चाहिए।

विशाल डडलानी- पागलपन। यह अनुमान मुश्किल नहीं है कि कौन जिम्मेदार है। बेशक, हमेशा की तरह जांच होगी और होगा कुछ भी नहीं।