Home देश मुख्तार अंसारी को बांदा जेल ले जाने पर अफजाल अंसारी ने उठाये...

मुख्तार अंसारी को बांदा जेल ले जाने पर अफजाल अंसारी ने उठाये सवाल, बृजेश सिंह पर मेहरबानी क्यों ? देखें वीडियो

SHARE

लखनऊ – मुख़्तार अंसारी के बड़े भाई और पूर्व सांसद अफजाल अंसारी ने लखनऊ में एक प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया जिसमें उन्होंने मुख्तार अंसारी को बांदा जेल भेजने को लेकर सवाल उठाये।  उन्होंने कहा कि बांदा जेल में मुख्तार अंसारी सुरक्षित नहीं हैं और इसकी आशंका वो पहले भी जता चुके हैं.  अफजाल अंसारी ने कहा कि जेल में मेरे भाई मुख्तार को अटैक पड़ा था जिससे उनकी तबीयत खराब हो गई थी उनके मुंह से गाज गिरने से उनकी पत्नी हुई थी बेहोश. अफजाल अंसारी ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि मुख्तार ने पहले ही कहा था कि मैं जेल में सुरक्षित नही हूं मैं आगरा और लखनऊ जेल से शिफ्ट होने पर आशंका जताई है.

उमर अंसारी भी मौजूद रहे

इस प्रेस कांफ्रेंस में अफजाल अंसारी के साथ मुख्तार अंसारी के छोटे बेटे उमर अंसारी भी मौजू। अफजाल अंसारी ने पत्रकारों को बताया कि मुख्यमंत्री आग्रह किया था कि सदन का सदस्य होने नाते मुख्तार के जीवन के संकट को देखते हुए PGI भेजने की की गुजारिश की थी. बांदा के डीएम ने कहा कि डॉक्टरों की टीम के साथ वहां से PGI रवाना किया गया था. अफजाल ने बताया कि  डॉक्टरों ने आशंका जताई थी कि दोबारा अटैक के बाद संभावना कम होती है. इंजियोग्राफी के बाद कहा गया कि उनको नसो में ब्लॉकेज है उसे देखकर उससे ऑपरेशन किया जाएगा.

जहर देने की बात भी बोले अफजाल

अफजाल ने कहा कि बांदा के लोग नहीं मानते है कि मुख्तार को जहर दिया गया है बल्कि उन्हें अटैक पड़ा था. पहले डॉक्टरों ने 72 घण्टे का समय मांगा था जिसके बाद उन्हें शिफ्ट कर दिया था. अफजाल ने बताया कि मुख्यमंत्री के बाद किसका फोन आया कि पूरा घटना क्रम ही बदल गया जो 72 घण्टे में जाने को कह रहे थे वे तुरंत भेजने की बात कहने लगे. अफजाल ने कहा कि डिस्चार्ज की फाइल पर लिखा गया था कि यात्रा न की जाए फिर भी उन्हें जबरन भेज दिया गया जो गलत है अस्पताल के बजाय जेल क्यों भेज दिया गया. उन्होंने सवाल किया कि कौन सा दबाव में उन्हें भेज गया जेल और उन्हें अस्पताल में नहीं रखा गया.

ब्रजेश सिंह पर मेहरबानी क्यों ?

पूर्व सांसद अफजाल अंसारी ने सवाल किया कि किसी को राहत दी जा रही है ताकि उसका बयान न हो 1986 कि मामले को दबा रहे है. उन्होंने कहा कि घर बनारस में और उन्हें रखा गया जेल में, बृजेश सिंह पर मेहरबानी क्यों की जा रही है? उन्होंने कहा कि जहर और हार्ट अटैक में से क्या है और क्यों अनदेखी की जा रही है.

प्रेस कांफ्रेंस लाईव देखें

नहीं जले चूल्हे

अफजाल अंसारी ने बताया कि मुख्तार अंसारी को जहर दिये जाने की खबरें क्षेत्र में आग की तरह फैलीं, लोगों के घरों में खाना नहीं बना, चूल्हे नहीं जले, मंदिरों में, मजारों पर, मस्जिदों में लोगों ने मुख्तार के लिये दुआऐं कीं। उन्होंने कहा कि हमें इस तंत्र पर भरौसा नही है। हमें तो उस (ईश्वर) के तंत्र पर भरौसा है जो सबका मालिक है। उन्होंने कहा कि जाको राखे साईंयां मार सके न कोय, अफजाल अंसारी ने कहा कि आज मुख्तार अगर जिंदा हैं तो वह क्षेत्र की लोगों की दुआओं का ही असर है। उन्होंने कहा कि

फानूश बनके जिसकी हिफाजत हवा करे

वो शम्मा क्या बुझेगी जिसे रौशन खुदा करे।

उन्होंने कहा कि मुख्तार को बांदा जेल में रखा गया है, जबकि उन पर वहां का कोई भी मुकदमा नही है। और उसकी दूरी दिल्ली से और लखनऊ से भी बहुत ज्यादा है। उन्होंने कहा कि बनारस, गाजीपुर लखनऊ जेल में रखने में आखिर क्या परेशानी है।